Vishal Bhardwaj had given up his fees for ‘Maqbool’ | बोले- पैसे नहीं थे, परेशान होकर फिल्म भी छोड़ना चाहा, बाद में इसी ने सब दिया

hindinewsviral.com
4 Min Read

[ad_1]

एक दिन पहले

  • कॉपी लिंक

हिंदी सिनेमा को फिल्म मकबूल जैसा मास्टरपीस देने के पीछे फिल्ममेकर विशाल भारद्वाज का हाथ है। हालांकि, इस फिल्म की मेकिंग के लिए बहुत पापड़ बेलने पड़े थे।

इसे बनाने के लिए उनके पास पैसे नहीं थे। पैसे की व्यवस्था भी नहीं हो पा रही थी। हालात से परेशान होकर शूटिंग शुरू होने से 2 हफ्ते पहले ही उन्होंने फिल्म का आइडिया ड्राप कर दिया था।

फिल्म के लिए विशाल ने छोड़ी थी अपनी फीस
मिड डे को दिए इंटरव्यू में विशाल ने बताया कि फिल्म के डायरेक्शन, राइटिंग, एडिटिंग और म्यूजिक कंपोजिशन के बजट को ध्यान में रखकर उन्होंने अपनी फीस नहीं ली थी। उन्होंने ऐसा इसलिए किया ताकि वो पसंदीदा लोकेशन पर फिल्म की शूटिंग कर सकें।

फिल्म के को-प्रोड्यूसर से हो गई थी अनबन
फिल्म में पुराना टच देने के लिए विशाल एक भव्य हवेली चाहते थे। इस कारण वो शूटिंग भोपाल के एक हवेली में करना चाहते थे। मगर शूट शुरू होने के 15 दिन पहले ही फिल्म के को-प्रोड्यूसर बाॅबी बेदी ने उन्हें बता दिया कि बजट के अभाव की वजह से स्टार कास्ट मुंबई से भोपाल नहीं जा पाएगी। बजट नहीं होने की वजह फिल्म की शूटिंग मुंबई के ही फिल्म डिविजन हवेली में करनी पड़ेगी।

ये सुन कर विशाल ने शूटिंग के लिए मना कर दिया। उनकी जिद देख फिर बेदी ने भी फिल्म बनाने से मना कर दिया। उसी रात विशाल ने 4-6 ग्लास ड्रिंक किया और फोन ऑफ करके सो गए। विशाल ने उस पूरे वीकेंड अपना फोन ऑफ रखा। फिर सोमवार को उनकी बेदी से बात से हुई। भोपाल का बजट 60 लाख पहुंच रहा था, जिसके लिए बेदी ने 30 लाख और विशाल ने 30 लाख लगाए।

विशाल ने आगे कहा- इस फिल्म के लिए मुझे एक पैसे भी नहीं मिले थे, मगर देखिए मुझे जितना मकबूल से मिला है, वो उन 30 लाख रुपए से कभी नहीं मिलता। बाॅबी बेदी के पास विजन था, जिसे इंडस्ट्री में सभी ने नकार दिया था।

खुद के पैसे थे शूट के लिए कैरम बोर्ड मंगवाया था
इतना ही नहीं, जब शूटिंग के लिए क्रू मेंबर्स सही साइज का कैरम बोर्ड खरीदने में नाकाम रहे, तब विशाल ने गुस्से में उन्हें सही प्रॉप खरीदने के लिए अपने पैसे दे दिए। उन्होंने याद करते हुए कहा, एक सीन के लिए प्रोडक्शन ने एक छोटा कैरम बोर्ड दिया था। जब मैंने उनसे इसके बारे में पूछा, तो उन्होंने कहा- इतने का ही बजट है।

बड़े साइज का कैरम बोर्ड 200 रुपए का था। फिर मैंने पैसे देकर नया कैरम बोर्ड मंगवाया। मेरा कहना था, जब तक बड़ा कैरम बोर्ड नहीं आएगा, हम शूटिंग नहीं करेंगे।

इस फिल्म से चमके थे इरफान खान
फिल्म मकबूल 2004 में रिलीज हुई थी। फिल्म को डायरेक्ट विशाल ने ही किया था। फिल्म में इरफान खान, तब्बू, नसीरुद्दीन साहब, पंकज कपूर और पीयूष मिश्रा जैसे दिग्गज कलाकार नजर आए थे।

इसी फिल्म से इरफान खान को भी असल पहचान मिली थी। इस टोरंटो इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में भी दिखाया गया था।

[ad_2]

Source link

Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *