TV show will raise the issue of marriage of minor girls | नाबालिग लड़कियों की शादी के मुद्दे को उठाएगा टीवी शो: ‘मेरा बालम थानेदार’ के लीड स्टार्स बोले-हमने ऐसी महिलाओं का दर्द देखा है

hindinewsviral.com
3 Min Read

[ad_1]

16 घंटे पहलेलेखक: किरण जैन

  • कॉपी लिंक

एक्टर शगुन पांडे और श्रुति चौधरी हाल ही में जयपुर में अपना शो ‘मेरा बालम थानेदार’ को प्रमोट करने पहुंचे। शो की प्रेस कांफ्रेंस के दौरान, दोनों एक्टर्स ने मारी धमाकेदार एंट्री। एक तरफ जहां शगुन ने राजस्थानी ढोल नगाड़े के साथ ली एंट्री तो वहीं श्रुति ने अपने घूमर डांस से सबको इम्प्रेस कर दिया। इतना ही नहीं, दोनों ने जयपुर का फेमस’हवामहल’ घूमा और राजस्थान की स्पेशल लाख की चूड़ियां बनवाने जैसी कई प्रमोशनल एक्टिविटी एंजॉय की।

इस शो की कहानी कम उम्र में शादी के विषय पर आधारित है। दैनिक भास्कर से खास बातचीत के दौरान, श्रुति कहती हैं, ‘मैंने मेरे होमटाउन बिहार से लेकर कई छोटे शहरों में देखा है कि कम उम्र में लड़कियों की शादी कर दी जाती है। मैंने उन लड़कियों का दर्द देखा है। उन बेचारी लड़कियों को जिंदगी के बारे में कुछ नहीं पता होता, वे नासमझ होती हैं, उनकी शादियां करा दी जाती है। हमारे शो की कहानी इसी दर्द के इर्द-गिर्द है।’

वे आगे कहती हैं, ‘वैसे, हमारे देश में अभी कई जगह नाबालिग लड़कियों की शादी कराने की प्रथा बंद हो गई है, लेकिन कुछ शहरों में अब भी ये रिवाज चल रहा है। हम चाहते हैं कि ये शो देखकर, ये प्रथा पूरी तरह से खत्म हो जाए।’

शगुन पांडे कहते हैं, ‘अब तक का ये इकलौता शो है जहां फीमेल लीड के अलावा मेल लीड की सोच को भी मेकर्स दिखाने वाले हैं। मेरा किरदार – वीर प्रताप सिंह बहुत ही स्ट्रांग है जो अपने समाज के मसलों का हल ढूंढना चाहता है। पर्सनली, मैंने वो समाज देखा है जहां महिलाएं पुरुषों के सामने घर के कोने में घूंघट लेकर बैठी रहती हैं।

परिवार का मतलब है कि सब साथ में बैठें, खुशी मनाएं, साथ में खाना खाए आदि। आज भी कई छोटे कस्बों में नाबालिग लड़कियों की शादी हो रही है, हमारे शो का मकसद है उस प्रॉब्लम को जड़ से निकालना।’

शो ‘मेरा बलम थानेदार’में दिखाया जाएगा कि बुलबुल (श्रुति चौधरी) के माता-पिता ने असली उम्र छिपाकर उसकी शादी कर देते हैं। आईपीएस अधिकारी वीर (शगुन पांडे), जो कम उम्र में शादी के खिलाफ है, वो अनजाने में बुलबुल से शादी कर लेता है। ये कहानी राजस्थान के बैकड्रॉप पर आधारित है।

[ad_2]

Source link

Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *