13 दिसंबर को खुलेगा पेंसिल और मार्कर बनाने वाली Doms Industries का IPO, कब तक लगा सकेंगे बोली

hindinewsviral.com
4 Min Read

[ad_1]

स्टेशनरी और आर्ट प्रोडक्ट्स बनाने वाली कंपनी डोम्स इंडस्ट्रीज (Doms Industries) 1200 करोड़ रुपये का IPO लेकर आ रही है। यह 13 दिसंबर को खुलेगा और 15 दिसंबर को बंद होगा। डोम्स इंडस्ट्रीज अनिवार्य रूप से T+3 टाइमलाइन में शेयर बाजार में डेब्यू करने वाली पहली कंपनी होगी क्योंकि SEBI ने 1 दिसंबर, 2023 से IPO लॉन्च करने वाली कंपनियों को पिछले T+6 फॉर्मेट के बजाय T+3 टाइमलाइन पर शिफ्ट होने का निर्देश दिया था। ऑफर की एंकर बुक 12 दिसंबर को एक दिन के लिए खुलेगी।

आईपीओ में डोम्स की ओर से 350 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी होंगे। वहीं प्रमोटर्स की ओर से 850 करोड़ रुपये का ऑफर फॉर सेल (OFS) रहेगा। कॉरपोरेट प्रमोटर FILA यानी फैब्रिका इटैलियाना लैपाइज्ड एफिनी स्पा, OFS में 800 करोड़ रुपये के शेयरों की बिक्री करेगी। प्रमोटर संजय मनसुखलाल राजानी और केतन मनसुखलाल राजानी OFS में 25-25 करोड़ रुपये के शेयर बेचेंगे।

कंपनी में किसकी कितनी​ हिस्सेदारी

डोम्स में इटैलियन समूह FILA की 51 प्रतिशत हिस्सेदारी है, जबकि संतोष रसिकलाल रवेशिया 17 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ प्रमोटर्स में दूसरे सबसे बड़े शेयरधारक हैं। 2 दिसंबर को दाखिल रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस के अनुसार, संजय मनसुखलाल राजानी और केतन मनसुखलाल राजानी के पास फर्म में 8.63 प्रतिशत हिस्सेदारी है। वहीं चांदनी विजय सोमैया, सेजल संतोष रवेशिया और शीतल हिरेन पारपानी के पास 4 प्रतिशत हिस्सेदारी है।

वित्त वर्ष 2022-2023 में पेंसिल और मैथेमैटिकल इंस्ट्रूमेंट बॉक्स जैसे मुख्य प्रोडक्ट्स के मामले में डोम्स की बाजार हिस्सेदारी क्रमश: 29 प्रतिशत और 30 प्रतिशत थी। आईपीओ में ताजा शेयरों को जारी कर होने वाली कमाई का इस्तेमाल डोम्स नई मैन्युफैक्चरिंग फैसिलिटी के लिए करेगी। नए प्लांट की मदद से कंपनी राइटिंग इंस्ट्रूमेंट्स, वॉटर कलर पेन्स, मार्कर्स और हाइलाइटर्स के लिए उत्पादन क्षमता बढ़ाना चाहती है। इसके अलावा होने वाली अर्निंग को सामान्य कॉरपोरेट उद्देश्यों को पूरा करने में भी लगाया जाएगा।

चुनाव नतीजों के बाद किन शेयरों पर लगाएं दांव? SBI, Axis Bank, Titan समेत ये स्टॉक्स हैं मोतीलाल ओसवाल की टॉप चॉइस

रिजर्व हिस्से की डिटेल

डोम्स के आईपीओ में कंपनी के कर्मचारियों के लिए 5 करोड़ रुपये तक के शेयर रिजर्व हैं। इसके बाद बचा हुआ हिस्सा नेट इश्यू कहलाएगा। नेट इश्यू में क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बायर्स के लिए 75 प्रतिशत, हाई नेटवर्थ वाले व्यक्तियों (नॉन-इंस्टीट्यूशनल इनवेस्टर्स) के लिए 15 प्रतिशत और रिटेल इनवेस्टर्स के लिए 10 प्रतिशत हिस्सा रिजर्व है।

कब हो सकती है लिस्टिंग

आईपीओ क्लोज होने के बाद डोम्स इंडस्ट्रीज के शेयरों का अलॉटमेंट 18 दिसंबर को और शेयरों की लिस्टिंग बीएसई और एनएसई पर 20 दिसंबर को हो सकती है। जेएम फाइनेंशियल, BNP पारिबा, ICICI Securities और IIFL सिक्योरिटीज इस इश्यू के मर्चेंट बैंकर हैं, जबकि लिंक इनटाइम इंडिया रजिस्ट्रार है।

IPOs Next Week: इस हफ्ते 5 IPO में पैसा लगाने का मौका, किसकी होने जा रही लिस्टिंग?

कितने मुनाफे में है कंपनी

वित्त वर्ष 2022-23 में डोम्स का शुद्ध मुनाफा सालाना आधार पर 567.2 प्रतिशत बढ़कर 95.8 करोड़ रुपये हो गया। ऑपरेशंस से रेवेन्यू 77.3 प्रतिशत बढ़कर 1,212 करोड़ रुपये और EBITDA (earnings before interest, tax, depreciation and amortisation) 149% सालाना बढ़कर 186.7 करोड़ रुपये रहा। अप्रैल-सितंबर 2023 की अवधि में कंपनी ने 761.8 करोड़ रुपये का रेवेन्यू और 70.63 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा दर्ज किया।

[ad_2]

Source link

Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *