The dispute over screen sharing of ‘Saalar’ and ‘Dinky’ ends | ‘सालार’ और ‘डंकी’ के स्क्रीन बंटवारे का विवाद खत्म: प्रभास की फिल्म को मिलेगी 70 फीसदी स्क्रीन, मुंबई के रीगल, मराठा मंदिर में नहीं लगी SRK की फिल्म

hindinewsviral.com
5 Min Read

[ad_1]

2 मिनट पहलेलेखक: अमित कर्ण

  • कॉपी लिंक

सालार और डंकी के स्क्रीन बंटवारे पर पिछले कई दिनों से चल रहे विवाद का गुरुवार को समाधान हो गया है। नॉर्थ इंडिया में स्क्रीन न मिलने के चलते सालार के मेकर्स ने साउथ में पीवीआर आइनॉक्स, सिनेपोलिस और मिराज का बायकॉट कर दिया था। वहीं अब उनके हवाले से आ रही खबरों के मुताबिक मल्टीप्लेक्स चेन ने उनकी मांग मान ली है। सालार को प्रोड्यूस कर रही कंपनी के अधिकारियों ने दावा किया कि तीनों नेशनल मल्टीप्लेक्स चेन ने उनकी मांग मान ली है।

उन अधिकारियों ने कहा- साउथ के तीनों मल्टीप्लेक्स चेन सालार को 70 फीसदी स्क्रीन देंगे, जबकि नॉर्थ में हमें और डंकी के बीच बराबर का बंटवारा होगा। यानी नॉर्थ इंडिया के मल्टीप्लेक्स चेन में हमें 50 फीसदी स्क्रीन मिलेंगे। इधर पीवीआर आयनॉक्स ने भी स्टेटमेंट जारी कर दिया। उनके मुताबिक- ट्रेड सर्कल में जो पिछले कुछ दिनों से कॉन्फिलक्ट की खबरें चल रही थीं, वह हकीकत नहीं है। सालार एक अहम फिल्म है। 22 दिसंबर को हमारे यहां वह रिलीज हो रही है।

गुरुवार को साउथ मुंबई के रीगल, मराठा मंदिर, प्रीमियर गोल्ड में डंकी का केडीएम न मिलने के चलते फिल्म रन नहीं कर पाई।

गुरुवार को साउथ मुंबई के रीगल, मराठा मंदिर, प्रीमियर गोल्ड में डंकी का केडीएम न मिलने के चलते फिल्म रन नहीं कर पाई।

सिंगल स्क्रीन वाले सिनेमाघरों को हो रहा नुकसान

डंकी और सालार में स्क्रीन बंटवारे की जंग अब भी जारी है। इसके चलते सिंगल स्क्रीन वालों को काफी नुकसान हुआ है। दोनों फिल्मों के डिस्ट्रीब्युटर्स तय नहीं कर पाए हैं कि नॉर्थ और साउथ में स्क्रीन को किस तरह शेयर करें। उनके इस वॉर से सिंगल स्क्रीन वालों का भारी नुकसान हुआ है।

22 दिंसबर को सालार के रिलीज होने के बाद होगी असली टक्कर

22 दिंसबर को सालार के रिलीज होने के बाद होगी असली टक्कर

आपको बता दें कि शुक्रवार को सिंगल स्क्रीन वाले सिनेमाघरों में ऑपरेटर डंकी और सालार की टिकट बुक नहीं कर सकते हैं। क्योंकि उन्हें गुरूवार की शाम तक फिल्मों के डिस्ट्रीब्युटर्स की तरफ से कोई परमिशन नहीं मिली थी। इसकी पुष्टि सिंगल स्क्रीन के एग्जीबिटर्स ने की है। फिलहाल नॉर्थ और साउथ इंडिया में केवल मल्टीप्लेक्सेज में डंकी और सालार रिलीज होगी। साउथ में सालार के मेकर्स ने जरूर दो अहम नेशनल चेन पीवीआर-आइनॉक्स और सिनेपाेलिस में अपनी फिल्म रिलीज नहीं की है।

डंकी की रिलीज होने के बाद भी हो रहा फिल्मों के डिस्ट्रीब्युटर्स में झगड़ा।

डंकी की रिलीज होने के बाद भी हो रहा फिल्मों के डिस्ट्रीब्युटर्स में झगड़ा।

जी7 गेटी गैलेक्सी और मराठा मंदिर सिनेमाचेन के एग्जीक्युटिव डायरेक्टर मनोज देसाई के शब्दों में दोनों फिल्मों के डिस्ट्रीब्युटर्स का झगड़ा डंकी की रिलीज होने के बाद और सालार की रिलीज में एक दिन ही बचे होने के बावजूद जारी है। शुक्रवार को हमारे जैसे सिनेमाघरों में हम डंकी और सालार की बुकिंग कर पाएंगे कि नहीं, वह इस वक्त किसी को नहीं मालूम है।

हमारे पास सिर्फ गुरूवार को डंकी की बुकिंग की परमिशन थी, लेकिन साउथ मुंबई के कई सिंगल स्क्रीन वाले सिनेमाघरों को डंकी के केडीएम ही नहीं मिले। वह डिजिटल चाभी होती है, जिसके चलते डिजिटल प्रोजेक्टर से आप फिल्म रन करते हैं। वह हो नहीं पाई।

केवल हिंदी भाषा में रिलीज हुई है।

केवल हिंदी भाषा में रिलीज हुई है।

जनता के हाथ में होगा फैसला- वेटरन एग्जीबिटर विषेक चौहान

वेटरन एग्जीबिटर विषेक चौहान कहते हैं, डंकी और सालार के बीच जो जंग जारी है। ये दुर्भाग्यपूर्ण है। स्क्रीन के बंटवारे पर डिस्ट्रीब्युटर चाहे जितना जोर लगा लें। प्रोड्यूसर्स के सामने अपना नंबर कितना बढ़ा लें, आखिर में फैसला जनता का होता है।जनता को जो फिल्म पसंद आएगी, उसे ही वह देखेगी। उन्होंने कहा उदाहरण के तौर पर हम राधेश्याम और द कश्मीर फाइल्स से लेकर सूर्यवंशी और मार्वल्स की फिल्मों को ले सकते हैं।

राधेश्याम और द कश्मीर फाइल्स में स्क्रीन का रेसियो पहले वीक में 4:1 का था। वहीं आगे के वीक में वही रेसियो उल्टा हो गया यानी द कश्मीर फाइल्स के पास 4 और महज राधेश्याम के पास 1 हो गया। विषेक आगे कहते हैं, डंकी और सालार के वितरकों का झगड़ा अगर नहीं सुलझा तो इसके अंजाम बड़े दूरगामी होंगे। सालार के निर्माताओं के पास बड़ी फिल्मों की तगड़ी लाइनअप है। ऐसे में मल्टीप्लेक्स वालों को आगे भी नुकसान होगा। इससे बेहतर है कि पब्लिक को फिल्म देख तय करने दें कि किस फिल्म की डिमांड ज्यादा रहेगी?

[ad_2]

Source link

Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *