PM VISHWAKARMA KAUSHAL SAMMAN YOJANA 2023 (पीएम-विकास)

hindinewsviral.com
10 Min Read

PM Vishwakarma Yojana 2023-वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 2023-24 के वित्त वर्ष के बजट के दौरान प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना की घोषणा की। इस योजना का शुभारंभ 17 सितंबर को होने का प्लान है, जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्म जयंती के साथ मिलता है।

योजना का नामपीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना
किसने घोषणा की:वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण
कब घोषणा हुईबजट 2023-24 के दौरान
कब लांच हुई17 सितम्बर, 2023 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस
उद्देश्यविश्वकर्मा समुदाय के लोगों को ट्रेनिंग और फंड देना
लाभार्थीविश्वकर्मा समुदाय के अंतर्गत आने वाली जातियां
अधिकारिक वेबसाइटhttps://pmvishwakarma.gov.in/
टोल फ्री नंबर18002677777 and 17923
PM Vishwakarma Yojana 2023

पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना क्या है? | PM Vishwakarma Kaushal Samman Yojana

यह योजना एक महत्वपूर्ण पहल है जो विश्वकर्मा समुदाय के सदस्यों को समृद्धि और विकास की दिशा में साथ लेने का मकसद रखती है। इस योजना का नाम भगवान विश्वकर्मा के नाम पर है, जो इस समुदाय के लिए एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। यहां कुछ तथ्य हैं – भारत में लगभग 140 विभिन्न उप-जातियां हैं जो विश्वकर्मा समुदाय से संबंधित हैं।

Red More

इस योजना का मुख्य उद्देश्य है इन समुदायों के लोगों को योग्यता विकसित करने और प्राधिकृत तकनीकी प्रशिक्षण प्राप्त करने का अवसर प्रदान करना। इसके साथ ही, सरकार इन शिल्पकारों और कारीगरों को आर्थिक सहायता प्रदान करने का भी काम कर रही है। इस योजना के तहत, केंद्र सरकार ने पारंपरिक शिल्पकारों और औद्योगिक कारीगरों के लिए आर्थिक सहायता पैकेज के लिए धन का आवंटन किया है।

पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना का उद्देश्य | PM Vishwakarma Kaushal Samman Yojana Purpose

सरकार को यह मानना है कि हर क्षेत्र के कारीगरों को कौशल होना बहुत जरूरी है। कई बार ऐसा होता है कि कारीगरों को उचित प्रशिक्षण नहीं मिलता, और जो अनुभवशाली होते हैं, उनके पास पर्याप्त वित्तीय संसाधन नहीं होता। ऐसे में, ऐसे व्यक्ति न तो समृद्धिपूर्ण जीवन जी सकते हैं, और न ही समाज की प्रगति में सक्रिय भूमिका निभा सकते हैं।

इसलिए, सरकार ने विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना की शुरुआत की है। इस योजना के तहत, लोगों को आवश्यक प्रशिक्षण मिलेगा और जिनके पास वित्तीय संसाधन नहीं है, उन्हें सरकार द्वारा वित्तीय सहायता भी प्राप्त होगी। इस प्रकार, तकनीकी प्रशिक्षण और वित्तीय सहायता प्राप्त करने के बाद, विश्वकर्मा समुदाय से जुड़े लोगों की आर्थिक स्थिति में महत्वपूर्ण सुधार होने की उम्मीद है, और वे समाज और राष्ट्र की प्रगति में अपना योगदान कर सकेंगे।

PM Vishwakarma Kaushal Samman Yojana के लिए बजट

पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना एक महत्वपूर्ण पहल हो सकती है क्योंकि सरकार द्वारा इसके लिए 15,000 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया गया है। इसे पीएम विकास योजना के रूप में भी जाना जाता है दरअसल क्योंकि इसका महत्व बहुत बड़ा है।

PM Vishwakarma Kaushal Samman Yojana के लाभ

> इस योजना से विश्वकर्मा समुदाय से जुड़े विभिन्न उप-जातियों को लाभ पहुंचेगा, जैसे कि बधेल, बड़ीगर, बग्गा, विधानी, भरद्वाज, लोहार, बढ़ई, पंचाल, और अन्य।

> यह योजना विश्वकर्मा समुदाय के अंतर्गत रोजगार दर को बढ़ावा देने और बेरोजगारी की दर को कम करने की उम्मीद है।

> इस योजना के तहत प्रशिक्षण और वित्तीय सहायता प्राप्त करने से, विश्वकर्मा समुदाय के व्यक्तियों की आर्थिक स्थिति में महत्वपूर्ण सुधार होगा।

> इस योजना की वजह से देश की बड़ी ऐसी आबादी को भी फायदा होगा, जो विश्वकर्मा समुदाय के अंतर्गत आती है।

PM Vishwakarma Kaushal Samman Yojana की मुख्य विशेषताएं

उद्देश्य : इस योजना का मुख्य उद्देश्य, जिसके तहत एक आर्थिक सहायता पैकेज की घोषणा की गई है, उन्हें एमएसएमई (माइक्रो, छोटे और मध्यम उद्यम) मूल्य श्रृंग में शामिल करना है।

बैंक कनेक्शन: हस्तनिर्मित वस्त्रों के निर्माताओं को बैंक प्रमोशन के माध्यम से राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय बैंक से भी कनेक्ट किया जाएगा।

कौशल प्रशिक्षण: इस योजना के तहत कौशल प्रशिक्षण को दो तरीकों से प्रदान किया जाएगा – पहला, मूल स्तर का प्रशिक्षण, जो प्रशिक्षण सत्यापन के बाद 5-7 दिनों तक (40 घंटे) होगा, और दूसरा, उन इच्छुक उम्मीदवारों के लिए उपलब्ध होगा, जो 15 दिनों (120 घंटे) के लिए प्रशिक्षण कर सकते हैं।

आर्थिक सहायता: इस योजना के अंतर्गत शामिल कारीगरों को उनके काम की प्रशिक्षण भी मिलेगा, और वे लोग जो अपना व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं, उन्हें सरकार द्वारा आर्थिक सहायता भी मिलेगी।

प्रशिक्षण प्रमाण पत्र और आईडी कार्ड: इस योजना के लाभार्थियों को मिस्यूज़ से बचाने के लिए प्रशिक्षण प्रमाण पत्र और आईडी कार्ड भी प्रदान किए जाएंगे।

क्रेडिट लोन: इस योजना के तहत क्रेडिट लोन का भुगतान करवाने के लिए निर्धारित नहीं किया जाएगा। पहली किस्त 1 लाख रुपये की होगी, जिसे 18 महीनों के चक्रवृद्धि पर दिया जाएगा, और दूसरी 2 लाख रुपये की होगी, जिसे 30 महीनों के चक्रवृद्धि पर दिया जाएगा।

मार्केटिंग सहायता: इसके अलावा, सरकार मार्केटिंग सहायता भी प्रदान करेगी। इसमें राष्ट्रीय मार्केटिंग कमेटी (NCM) गुणवत्ता प्रमाणन, ब्रांडिंग और प्रचारण, ई-कॉमर्स लिंकेज, व्यापार मेले की सहायता, विज्ञापन, और अन्य मार्केटिंग गतिविधियों की सेवाएं शामिल होंगी।

पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना (vishwakarmaTraining Amount)

ट्रेनिंग के दौरान प्रतिदिन के अनुसार लाभार्थियों को 500 रूपये का अनुदान दिया जायेगा. और इसके अलावा उन्हें अपने टूलकिट को खरीदने के लिए 15,000 रूपये की सहायता राशि भी दी जाएगी.

FAQ

Q : पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना की शुरुआत किसने की?

Ans : वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

Q : पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना कब शुरू हुई?

Ans : बजट 2023-24 के दौरान

Q : पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना का लाभ किसे मिलेगा?

Ans : शिल्पकारों को

Q : पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना में आवेदन कैसे करें?

Ans : इसकी अधिकारिक वेबसाइट में जाकर रजिस्ट्रेशन करना होगा.

Q : पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना की ऑफिसियल वेबसाइट क्या है?

Ans : https://pmvishwakarma.gov.in/

Q : पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना का हेल्पलाइन नंबर क्या है?

Ans : 18002677777 and 17923

Q : पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना में ट्रेनिंग के दौरान कितना अनुदान मिलेगा?

Ans : 500 रूपये प्रतिदिन

Q : क्या मुझे इस योजना के तहत ऋण सुविधा प्राप्त करने के लिए कोई कोलैटरल देने की आवश्यकता है?

Ans : नहीं, कोई भी कोलैटरल सिक्यूरिटी की आवश्यकता नहीं है.

Q : पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना में ब्याज छूट कितनी दी गई है?

Ans : लोन के लिए लाभार्थियों से रियायती ब्याज दर 5% निर्धारित की गई है।

Q : पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना में किस तरह का कौशल प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है?

Ans : पारंपरिक कारीगरों और शिल्पकारों की क्षमताओं को बढ़ावा दिया जायेगा, जो पीढ़ियों से हाथों या पारंपरिक उपकरणों से काम कर रहे हैं। इसके लिए 3 श्रेणी होगी कौशल सत्यापन, बुनियादी कौशल और उन्नत कौशल आदि.

Q : क्या मैं कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रमों में भाग लिए बिना टूलकिट प्राप्त कर सकता हूँ?

Ans : नहीं, क्योकि बेसिक ट्रेनिंग की शुरुआत में ट्रेनिंग वेरिफिकेशन के बाद लाभार्थी को 15,000 रुपये टूलकिट के लिए प्रदान किए जाएंगे।

Q : पीएम-विकास योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के संबंध में सहायता प्राप्त करने के लिए मैं किससे संपर्क कर सकता हूं?

Ans : आप योजना के संबंध में किसी भी जानकारी के लिए अपने निकटतम सामान्य सेवा केंद्रों, एमएसएमई-विकास और सुविधा कार्यालयों (एमएसएमई-डीएफओ) या जिला उद्योग केंद्रों (डीआईसी) पर जा सकते हैं। आप चाहे तो pm-vishwakarma@dcmsme.gov.in पर लिख करके भी सहायता प्राप्त कर सकते हैं।

Q : पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना में एक परिवार से कितने लोग आवेदन कर सकते हैं?

Ans : एक परिवार से केवल एक

Q : क्या कोई व्यक्ति जिसने PMEGP, PMSVA-Nidhi या PM-Mudra का लाभ उठाया है, वह पीएम विश्वकर्मा के लिए आवेदन कर सकता है?

Ans : जिन्होंने इन योजनाओं के तहत लोन के लिए आवेदन करने के बाद लोन चूका दिया है वे इसके लिए आवेदन कर सकते हैं. लेकिन यदि लोन चुकाना बकाया है तो उसे इसका लाभ नहीं मिल सकेगा.

Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *