Pankaj Tripathi Shares his childhood Village incidents; Used to do bicycle stunts to impress girls, changes his sirname from Tiwari to Tripathi | लड़कियों को इम्प्रेस करने के लिए साइकिल स्टंट करते थे: स्विमिंग सीखने के लिए कीड़े खाए थे, बोले- ‘मेरा ओरिजिनल सरनेम तिवारी था’

hindinewsviral.com
4 Min Read

[ad_1]

  • Hindi News
  • Entertainment
  • Bollywood
  • Pankaj Tripathi Shares His Childhood Village Incidents; Used To Do Bicycle Stunts To Impress Girls, Changes His Sirname From Tiwari To Tripathi

17 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

एक्टर पंकज त्रिपाठी का जन्म बिहार के गोपालगंज डिस्ट्रिक्ट के बेलसंड गांव में हुआ था। उन्होंने अपना पूरा बचपन वहीं बिताया है। एक हालिया इंटरव्यू में एक्टर ने अपने यंग डेज के किस्से शेयर किए। उन्होंने बताया कि गांव में वो लड़कियों को इम्प्रेस करने के लिए साइकिल से स्टंट किया करते थे। उन्होंने एक और किस्सा शेयर किया जब स्विमिंग सीखने की कोशिश में उन्होंने कीड़ा खा लिया था। इंटरव्यू में पंकज ने यह भी बताया कि उनका सरनेम पहले तिवारी था, जिसे उन्होंने बाद में त्रिपाठी कर लिया।

अपने पिता स्व.पंडित बेनारस तिवारी और मां हेमवंती तिवारी के साथ पंकज त्रिपाठी।

अपने पिता स्व.पंडित बेनारस तिवारी और मां हेमवंती तिवारी के साथ पंकज त्रिपाठी।

साइकिल स्टंट सीखकर भी रेस हारे
इंडिया टीवी को दिए एक इंटरव्यू में पंकज ने अपने साइकिल स्टंट से जुड़ा किस्सा शेयर करते हुए कहा, ‘7वीं या 8वीं कक्षा की बात है। गांव में एक लड़का था जो साइकिल पर स्टंट करता था। वो स्कूल में हुई स्लो रेस का विनर भी था। वो लड़कियों के बीच बहुत पॉपुलर था तो मैंने उससे स्टंट करना सीखा था। मैंने सोचा था कि उससे सीखकर अगले साल मैं विनर बन जाऊंगा पर ऐसा हुआ नहीं।’

पंकज ने हाल ही में अपने पिता की याद में गांव के स्कूल में लाइब्रेरी शुरू की है।

पंकज ने हाल ही में अपने पिता की याद में गांव के स्कूल में लाइब्रेरी शुरू की है।

स्विमिंग सीखने के लिए खा लिए थे कीड़े
इसी इंटरव्यू में पंकज ने अपना स्विमिंग सीखने वाला किस्सा भी शेयर किया। पंकज ने कहा, ‘मेरे घर के पीछे नदी बहती थी और मैं स्विमिंग सीखना चाहता था। मेरे गांव के बच्चे बहुत शरारती थे और उनमें से एक ने कहा कि अगर में नदी में बहने वाले काले कीड़े खा लूंगा तो मुझे अपने आप तैरना आ जाएगा। मैंने ऐसा ही किया और 10-12 कीड़े खा लिए। शुक्र है कि मेरा पेट खराब नहीं हुआ।’

पंकज की अपकमिंग फिल्म 'मैं अटल हूं' है। यह 19 जनवरी को रिलीज होगी।

पंकज की अपकमिंग फिल्म ‘मैं अटल हूं’ है। यह 19 जनवरी को रिलीज होगी।

पुजारी और किसान बनने के डर से बदला था सरनेम
वहीं अपने सरनेम बदलने का जिक्र करते हुए पंकज ने कहा, ‘मेरा ओरिजिनल सरनेम तिवारी था। गांव में सभी तिवारी या तो पुजारी थे या फिर किसान थे। वहीं मेरे अंकल जिनका सरनेम त्रिपाठी था वो गर्वमेंट ऑफिसर थे। एक और बाबा थे जिनका सरनेम त्रिपाठी था और वो हिंदी के प्रोफेसर थे।

जब मैं 10वीं कक्षा का एडिमट कार्ड भर रहा था तब मुझे लगा कि मैं भी अपने नाम के आगे त्रिपाठी लगा लेता हूं क्योंकि मुझे किसान या पुजारी नहीं बनना था। इसके बाद मैंने पहले अपना और फिर अपने पापा का सरनेम भी बदल दिया।’

पंकज की अगली फिल्म ‘मैं अटल हूं’ है, जो 19 जनवरी को थिएटर्स में रिलीज होगी। फिल्म में पंकज लीड रोल में भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के रोल में नजर आएंगे।

[ad_2]

Source link

Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *