निफ्टी ने लगाया नया हाई, 38 स्मॉलकैप शेयर 33% तक भागे, जानिए आगे कैसी रह सकती है बाजार की चाल

hindinewsviral.com
6 Min Read

[ad_1]

Market news: 01 दिसंबर को खत्म हुए छोटे हफ्ते में भारतीय इक्विटी बाजार में शानदार तेजी देखने को मिली। लगातार 5वें हफ्ते बाजार बढ़त लेकर बंद होने में कामयाब रहा है। हफ्ते के आखिरी कारोबारी दिन निफ्टी नया ऑलटाइम हाई लगाता दिखा। पॉजिटिव ग्लोबल संकेतों, मजबूत घरेलू इकोनॉमिक आंकड़ों, बाजार में एफआईआई की वापसी और यूएस फेड और ईसीबी की तरफ से ब्याज दरों में बढ़त की चिंता कम होने से बाजार को जोरदार सपोर्ट मिला।

इस हफ्ते बीएसई सेंसेक्स 2.29 फीसदी या 1,511.15 अंक बढ़कर 67,481.19 पर बंद हुआ। जबकि निफ्टी 50 इंडेक्स 473.2 अंक या 2.39 फीसदी बढ़कर 20,267.90 पर बंद हुआ। नवंबर महीने में बीएसई सेंसेक्स करीब 5 फीसदी और निफ्टी50 इंडेक्स 5.5 फीसदी चढ़ा है। बीएसई मिड-कैप, लार्ज-कैप और बीएसई स्मॉल-कैप इंडेक्स में 3 फीसदी, 2.6 फीसदी और 2 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। मिड और स्मॉलकैप ने लार्जकैप से बेहतर प्रदर्शन किया है।

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज के विनोद नायर ने कहा “इस हफ्ते बाजार नई ऊंचाइयों पर पहुंच गया। इसने बड़े रजिस्टेंस को निर्णायक रूप से तोड़ दिया और मजबूती के साथ 20,000 के स्तर से ऊपर बंद हुआ। ग्लोबल बाजारों में भी तेजी देखने को मिली है। महंगाई में गिरावट से खुश होकर ईसीबी ने भी दरों में बढ़त पर विराम लगा दिया। वित्त वर्ष 2024 के दूसरी तमाही के मजबूत जीडीपी आंकड़ों और मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की मजबूती ने बाजार में जोश भर दिया है। आईपीओ बाजार भी गुलजार रहा है। टाटा टेक्नोलॉजी की रिकॉर्ड तोड़ लिस्टिंग जोखिम वाले एसेट क्लास में निवेशकों का विश्वास बढ़ाया”।

“आने वाले हफ्ते में निवेशकों की नजरें यू.एस., भारत और चीन से सर्विसेज पीएमआई आंकड़ों पर रहेंगे। अगले हफ्ते आरबीआई की नीति बैठक भी है। इसमें यथास्थिति बरकरार रहने की उम्मीद है। हालांकि, ग्रोथ के अनुमान में पॉजिटिव बदलाव हो सकता है। नवंबर में एफआईआई की वापसी बाजार में तेजी जारी रहने का संकेत दे रही है।”

बीते हफ्ते सभी सेक्टोरल इंडेक्स हरे निशान में बंद हुए। बीएसई ऑयल एंड गैस और पावर इंडेक्स में 5.7 फीसदी, बीएसई कैपिटल गुड्स इंडेक्स में 3.6 फीसदी और बीएसई मेटल इंडेक्स में 3 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली है।

इस हप्ते बाजार में एफआईआई की खरीदारी लौटती दिखी। एफआईआई ने 10,593.19 करोड़ रुपये की खरीदारी की, जबकि घरेलू संस्थागत निवेशकों (डीआईआई) ने 4,353.55 करोड़ रुपये की इक्विटी खरीदी।

बीएसई स्मॉल-कैप इंडेक्स में 2 फीसदी की बढ़त देखने को मिली। नवकार कॉर्पोरेशन, डेटामैटिक्स ग्लोबल सर्विसेज, टैनफैक इंडस्ट्रीज, केसोराम इंडस्ट्रीज, 63 मून्स टेक्नोलॉजीज, एस्टर डीएम हेल्थकेयर, सतलज टेक्सटाइल्स एंड इंडस्ट्रीज, मार्कसंस फार्मा, शालीमार पेंट्स, एनबीसीसी (इंडिया), जेनेसिस इंटरनेशनल कॉर्पोरेशन और इंडिया सीमेंट्स 15-32 फीसदी की तेजी देखने को मिली।

दूसरी ओर एथर इंडस्ट्रीज, टीवीएस श्रीचक्र, रतनइंडिया पावर, विकास डब्ल्यूएसपी, टेक्समैको रेल एंड इंजीनियरिंग, डीबी कॉर्प, कारट्रेड टेक, जयप्रकाश एसोसिएट्स, जयप्रकाश पावर वेंचर्स, एसएमएल इसुजु, थॉमस कुक (इंडिया), पीडीएस, होंडा इंडिया पावर प्रोडक्ट्स , द बॉम्बे डाइंग, हिमतसिंगका सीड और दिलीप बिल्डकॉन में 7-10 फीसदी की गिरावट देखने को मिली।

अगले हफ्ते कैसी रह सकती है बाजार की चाल?

एलकेपी सिक्योरिटीज के रूपक डे का कहना है कि निफ्टी में तेजी जारी है। बाजार पर तेजड़ियों का नियंत्रण बना हुआ है। वीकली टाइम फ्रेम पर एक कंसेलीडेशन ब्रेकआउट की संभावना दिख रही है, जिससे इंडेक्स में और तेजी आने का रास्ता खुलेगा। वीकली आरएसआई में बुलिश क्रॉसओवर देखने को मिला है जिसमें मार्केट सेंटीमेंट में मजबूती आई है। निफ्टी के लिए 20,200 पर सपोर्ट दिख रहा है। जब तक निफ्टी इस लेवल से ऊपर बना हुआ है गिरावट में खरीदारी की सलाह होगी। ऊपर की तरफ 20,450-20,500 पर रजिस्टेंस दिख रहा है।

Hot Stocks : निफ्टी में जल्द ही 20500 का स्तर मुमकिन, 3-4 हफ्ते में डबल डिजिट कमाई के लिए इन स्टॉक्स पर लगाएं दांव

मेहता इक्विटीज के प्रशांत तापसे का कहना है कि एफआईआई की तरफ से नए सिरे हो रही खरीदारी और यूरोपीय बाजार के सकारात्मक संकेतों के कारण बाजार में जोरदार खरीदारी आई जिसने बेंचमार्क निफ्टी को एक नई रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचा दिया। कमजोर ग्लोबल स्थिति में भारत एक चमकता सितारा बना हुआ है। मजबूत जीडीपी और पीएमआई आंकड़ों के साथ ही अमेरिकी बॉन्ड यील्ड में गिरावट जैसे बाहरी कारक भी बाजार को सपोर्ट दे रहे हैं। निफ्टी के लिए अल्पकालिक तकनीकी आउटलुक तेजी के पक्ष में बना हुआ है। जिसमें निफ्टी के लिए 20089-19909 पर सपोर्ट और 20500-20751 पर रजिस्टेंस दिख रहा है।

रेलिगेयर ब्रोकिंग के अजीत मिश्रा का कहना है कि अहम सेक्टरों में रोटेशनल बाइंग के चलते सूचकांक को ऊपर चढ़ने में मदद मिल रही है और अब हमारी नजर निफ्टी में 20,500 पर है। घरेलू कारकों के अलावा अच्छे ग्लोबल संकेतों से भी बाजार को सपोर्ट मिल रहा है। ऐसे में बाजार में गिरावट पर खरीदारी की रणनीति को जारी रखने की सलाह होगी।

डिस्क्लेमर: मनीकंट्रोल.कॉम पर दिए गए विचार एक्सपर्ट के अपने निजी विचार होते हैं। वेबसाइट या मैनेजमेंट इसके लिए उत्तरदाई नहीं है। यूजर्स को मनी कंट्रोल की सलाह है कि कोई भी निवेश निर्णय लेने से पहले सर्टिफाइड एक्सपर्ट की सलाह लें।

[ad_2]

Source link

Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *