Mamaearth Block Deal: मामाअर्थ के बिकेंगे ₹230 करोड़ के शेयर, मंगलवार को बाजार खुलते ही होगी बड़ी डील

hindinewsviral.com
3 Min Read

[ad_1]

Honasa Consumer Shares Block Deal: मामाअर्थ की पैरेंट कंपनी होसाना कंज्यूमर के शेयरों में मंगलवार 5 दिसंबर को एक बड़ी ब्लॉक डील देखने को मिल सकती है। इस ब्लॉक डील में कंपनी के करीब 230 करोड़ रुपये शेयर बेचे जा सकते हैं। हमारे सहयोगी CNBC-TV18 को मिली जानकारी के मुताबिक, होसाना कंज्यूमर की शेयरधारक “फायरसाइड वेंचर्स INVT फंड-I” कल ब्लॉक डील में शेयर बेचेगी। यह करीब 61 लाख शेयरों को बिक्री के लिए रखेगी, जो करीब 1.9% हिस्सेदारी के बराबर हैं। इन शेयरों की कुल वैल्यू 230 करोड़ रुपये है।

सूत्रों ने बताया कि इन शेयरों को 368.7 से 384.1 रुपये के भाव पर बिक्री के लिए रखा जाएगा। यह इसके मौजूदा बाजार भाव से करीब 4 फीसदी कम है। कोटक सिक्योरिटीज को इस डील के लिए ब्रोकरेज चुना गया है।

इस बीच Honasa Consumer के शेयर आज 4 दिसंबर को एनएसई पर 3.85 फीसदी गिरकर बंद हुए। 7 नवंबर को लिस्ट होने के बाद से अबतक कंपनी के शेयरों में करीब 14 फीसदी की तेजी आई है।

यह भी पढ़ें- Nifty 50 और Nifty Bank सूचकांकों में क्यों रही तूफानी तेजी? जानें एक्सपर्ट्स की राय

होनासा कंज्यूमर की सितंबर तिमाही के नतीजों में रेवेन्यू में साल दर साल आधार पर 21 फीसदी ग्रोथ दिखी है। वॉल्यूम 27 फीसदी बढ़ा है। इससे कंपनी का प्रॉफिट बढ़कर 30 करोड़ हो गया है। यह करीब दोगुना है। कंपनी के मैनेजमेंट में इस वित्त वर्ष की पहली छमाही में रेवेन्यू में 33 फीसदी ग्रोथ का गाइडेंस दिया है।

कंपनी के रेवेन्यू में मामाअर्थ ब्रांड की हिस्सेदारी FY23 में 78 फीसदी रही। जेफरीज ने मामाअर्थ के स्टॉक्स को खरीदने की सलाह देते हुए इसका टारगेट प्राइस 530 रुपये रखा है। मैरिको का ईपीएस 11.76 रुपये है और इसमें 43.42 गुना पीई मल्टीपल पर ट्रेड हो रहा है। होनासा का ईपीएस 2.99 रुपये है। इसमें 159 गुना पीई मल्टीपल पर ट्रेड हो रहा है।

जेफरीज ने अपने मॉडल इंडिया पोर्टफोलियों में किया शामिल

जेफरीज ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि मार्जिन एक्सपैंसन में मैरिको का प्रदर्शन अच्छा रहा है। लेकिन वॉल्यूम ग्रोथ कमजोर रही है। रूरल डिमांड पर अब भी दबाव दिख रहा है। उधर, होनासा की रेवेन्यू ग्रोथ 30 फीसदी रही है। इस कंपनी के ग्राहकों में प्रीमियम कंज्यूमर भी शामिल हैं, जिन पर हाई इनफ्लेशन और डिमांड स्लोडाउन का असर नहीं पड़ा है।

[ad_2]

Source link

Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *