IRCON OFS: इरकॉन में 10% सस्ते भाव पर सरकार बेचने जा रही हिस्सेदारी, 7 दिसंबर को खुलेगा ऑफर

hindinewsviral.com
3 Min Read

[ad_1]

IRCON OFS: भारत सरकार इरकॉन (IRCON) में अपनी करीब 8% हिस्सेदारी बेचने के लिए गुरुवार 7 अक्टूबर को ऑफर-फॉर-सेल (OFS) लॉन्च करेगी। IRCON, पब्लिक सेक्टर कंपनी है, जो रेल मंत्रालय के तहत आती है। कंपनी ने शेयर बाजारो को भेजी एक सूचना में बताया कि इस ऑफर-फॉर-सेल (OFS) के लिए शेयरों की न्यूनतम कीमत 154 रुपये प्रति शेयर होगा। इरकॉन के शेयर बुधवार को एनएसई पर 0.81% की गिरावट के साथ 172 रुपये के भाव पर बंद हुए। इस तरह 154 रुपये प्रति शेयर का भाव, इसकी मौजूदा कीमत से करीब 10 प्रतिशत है। इस साल अब तक इरकॉन के शेयरों में 190% की तेजी आई है।

154 रुपये के न्यूनतम भाव पर 8% हिस्सेदारी बेचने से सरकार को 1,200 करोड़ रुपये से अधिक की राशि मिलेंगे। सरकार के पास फिलहाल IRCON में 73.18% हिस्सेदारी है, जो रेल मंत्रालय के अधीन है। यह कंपनी रेल ट्रांसपोर्ट से जुड़े इंफ्रास्ट्रक्चर के निर्माण में लगी हुई है।

ओएफएस का बेस इश्यू साइज आकार 4% हिस्सेदारी या 3,76,20,629 शेयरों का है। इसके अलावा इसमें ओवरसब्सक्रिप्शन की स्थिति में अतिरिक्त 4% या 3,76,20,629 शेयरों को बेचने का विकल्प रखा है। इस विकल्प को ग्रीन-शू विकल्प भी कहते हैं। इस तरह ग्री-शू विकल्प के साथ ऑफर का कुल साइज 8% या 7,52,41,258 शेयरों का हो जाता है।

यह भी पढ़ें- Tata Group के इस शेयर से टूटा ब्रोकरेज फर्मों का भरोसा! जानें कब आएंगे इस स्टॉक के अच्छे दिन

डिपार्टमेंट ऑफ इनवेस्टमेंट एंड पब्लिक एसेट मैनेजमेंट (DIPAM) के सचिव तुहिन कांत पांडे ने बुधवार को कहा, “गैर-रिटेल निवेशकों के लिए इरकॉन का ऑफर-फॉर-सेल इश्यू कल खुलेगा। वहीं रिटेल निवेशक शुक्रवार को बोली लगा सकते हैं। सरकार ग्रीन शू विकल्प सहित 8% इक्विटी का विनिवेश करेगी।”

DIPAM सेक्रेटरी के ट्वीट को आप नीचे देख सकते हैं-

बता दें कि सरकार ने मौजूदा वित्त वर्ष 2024 में विनिवेश के जरिए करीब ₹51,000 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य रखा है। अब तक इसे कोल इंडिया (Coal India), हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL), हुडको (HUDCO), रेल विकास निगम (RVNL) और एसजेवीएन (जिसे पहले सतलुज जल विद्युत निगम के नाम से जाना जाता था) में विनिवेश से केवल ₹8,858 करोड़ रुपये ही मिले हैं। ऐसे में आने वाले दिनों में कुछ और पब्लिक सेक्टर कंपनियों के OFS आते दिख सकते हैं।



[ad_2]

Source link

Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *