मेरी कामयाबी पर पिता खुश थे लेकिन…, वर्ल्‍डकप 2023 के स्‍टार प्‍लेयर रचिन रवींद्र का खुलासा

hindinewsviral.com
4 Min Read

[ad_1]

हाइलाइट्स

कहा, मेरे पिता अपने इमोशंस को दबाकर रखते हैं
वर्ल्‍डकप के बाद न्‍यूजीलैंड के स्‍टार प्‍लेयर बने रचिन
भारतीय मूल के इस प्‍लेयर ने WC में 578 रन बनाए थे

नई दिल्‍ली. वर्ल्‍डकप 2023 (World Cup 2023) में न्‍यूजीलैंड (New Zealand cricket team) के रचिन रवींद्र ने एक गुमनाम से प्‍लेयर के तौर पर एंट्री की थी लेकिन टूर्नामेंट में जबर्दस्‍त प्रदर्शन के बाद हर कहीं उनके नाम की चर्चा है.भारतीय मूल के इस क्रिकेटर ने टूर्नामेंट के 10 मैचों में 64.22 के औसत से 578 रन बनाए जिसमें तीन शतक शामिल रहे. बल्‍ले से इस प्रदर्शन के अलावा खेल के प्रति अपनी अप्रोच और तकनीक से भी 24 साल के रचिन रवींद्र (Rachin Ravindra) ने सबको प्रभावित किया.क्रिकेट के कुछ दिग्‍गज प्‍लेयर्स ने तो बाएं हाथ के इस बैटर को भविष्‍य का स्‍टार बताया है.

हालांकि वर्ल्‍डकप के जरिये मिले नाम और शोहरत के बावजूद रचिन ने अपने ‘पैर’ जमीन पर ही रखे हैं. वर्ल्‍डकप से आपकी जिंदगी कितनी बदली है, इस सवाल पर उन्‍होंने कहा, ‘मैं अभी भी वही रचिन हूं. अपनी टीम के साथियों और परिवार के साथ समय बिताता हूं. उम्मीद है कि इससे मेरी जिंदगी मेंकुछ भी बदलाव नहीं आएगा.’

‘360 डिग्री प्‍लेयर’ ने IPL टीम से रिलीज किए जाने की पीड़ा को यूं किया बयां

रचिन ने ESPN Cricinfo के साथ खास बातचीत में आगे कहा, ‘हां…यह जरूर है कि मुझे लोगों का कुछ ज्‍यादा अटेंशन मिलता है. वे फोटो और ऑटोग्राफ के लिए कहते हैं. मुझे लगता है कि जब आप कुछ मैचों में अच्‍छा प्रदर्शन करते हुए तो ऐसा होना तय है.’ रचिन ने स्‍वीकार किया कि पिता की क्रिकेट में रुचि होने के कारण वे इस खेल से जुड़े.उन्‍होंने कहा,’मेरे पिता क्‍लब क्रिकेट खेले,वे क्रिकेट देखना काफी पसंद करते थे.घर के आसपास इसका माहौल था, मैंने उन्‍हीं से इसे लिया.हालांकि उन्‍हें कभी भी मुझे क्रिकेट खेलने का दबाव नहीं डाला लेकिन स्‍वाभाविक रूप से मैं इससे जुड़ गया.’

बैटर को आउट देने के बाद अम्‍पायर ने मानी गलती, वापस बुलाया, देखें VIDEO

सफलता मिलने पर पिता की रिएक्‍शन के बारे में रचिन ने कहा, ‘मेरे करीबी अन्‍य सभी लोगों की तरह वे भी बेहद खुश थे और गर्व महसूस कर रहे थे लेकिन वे इसे (अपने इमोशंस को) काफी हद तक सीने में ही रखते हैं.मेरी मां भी बहुत खुश थी.मेरे दोस्‍तों का ग्रुप ने हर मैच को देखा, वे ग्रुप चेट में इस बारे में बात भी करते थे.’ रचिन ने वर्ल्‍डकप के कुछ मैचों में नंबर तीन पर बैटिंग की, जिस पर सामान्‍यत: टीम के कप्‍तान केन विलियमसन करते थे. इस बारे में किए गए सवाल पर रचिन ने विलियमसन की प्रशंसा की और अच्‍छा लीडर बताया. बाएं हाथ के इस युवा प्‍लेयर ने कहा कि केन जो कहते हैं, वह करते हैं.चोटिल होने के कारण जब वे नहीं खेल रहे थे तब भी उनका रोल और लीडरशिप अहम थी.

किसी टेस्‍ट सीरीज में सर्वाधिक रन का ‘क्रिकेट के डॉन’ का रिकॉर्ड अब भी अटूट

रचिन ने बताया, ‘इंग्‍लैंड के खिलाफ टूर्नामेंट के उद्घाटन मैच के एक दिन पहले, मुझे ट्रेनिंग के दौरान पता चला कि मैं इस मैच में खेल रहा हूं और मुझे नंबर तीन पर बैटिंग करनी है.अपने पहले वर्ल्‍डकप मैच में डेव (डेवोन कान्‍वे) के साथ बैटिंग करना अच्‍छा रहा.वे मेरे आदर्श हैं और मैं उनके काफी करीब हूं.डेव के साथ 200 से अधिक रनों की पार्टनरशिप करना अच्‍छा रहा.

Tags: New Zealand, Rachin Ravindra, World cup 2023

[ad_2]

Source link

Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *