Dara Singh used to do makeup for hours to become Hanuman | हनुमान बनने के लिए घंटों मेकअप करते थे दारा सिंह: आठ-नौ घंटे कुछ खा नहीं पाते थे, पूंछ की वजह से बैठते भी नहीं थे

hindinewsviral.com
3 Min Read

[ad_1]

11 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

अयोध्या में राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के बीच रामानंद सागर की ‘रामायण’ एक बार फिर चर्चे में आ गई है। इसकी शूटिंग के दिनों से जुड़े कई फैक्ट्स सामने आए हैं। रामानंद सागर के बेटे प्रेम सागर ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया कि शो में हनुमान का रोल करने वाले दिवगंत एक्टर दारा सिंह 9 घंटे तक कुछ नहीं खाते थे।

दरअसल उनके किरदार के चलते उनको भारी मेकअप करना पड़ता था। उन्होंने बताया कि दारा सिंह के मेकअप में लगभग 3 से 4 घंटे लगते थे। क्योंकि उन दिनों प्रोस्थेटिक मेकअप नहीं हुआ करता था। उनको हुनमान के रोल के लिए पूंछ भी लगानी पड़ती थी। इसके कारण वो ठीक से बैठ भी नहीं पाते थे। सेट पर उनके लिए एक स्पेशल स्टूल बनवाया गया था। स्टूल में एक कट लगा हुआ था, जिसमें वो अपनी पूंछ के सहारे बैठ पाते थे।

इतना ही नहीं, प्रेम सागर ने ये भी कहा कि उनके पिता रामानंद सागर बहुत डेडिकेशन के साथ काम करते थे। वो सुबह 4 बजे उठकर शूटिंग करते थे।

वानर सेना के मेकअप में होती थी समस्या

प्रेम सागर ने बताया कि उन दिनों सबसे बड़ी समस्या वानर सेना के लिए थी। क्योंकि वानर सेना के लिए लगभग 500 लोगों की आवश्यकता था। उन सभी का मेकअप करने में बहुत समस्या होती थी। उन्होंने कहा- जब लंका दहन का सीन करना पड़ा, तो उस समय हमारी टीम को बहुत विचार-विमर्श करना पड़ा। समस्या ये थी कि रस्स की से बनी पूंछ में आग लगाने में काफी रिस्क था। इसलिए हमें एक कारीगर को बुलाकर उस सीन के लिए स्पेशल पूंछ बनवानी पड़ी।

तब दारा सिंह जी को हर दिन 6 घंटे भूखा रहना पड़ता था। इस सीन के दौरान उन्होंने 7 दिनों तक कई घंटे ऐसे बिताए और फिर इसे शूट किया गया।

1987 में शुरू हुआ था रामायण
रामायण का प्रसारण दूरदर्शन पर 25 जनवरी 1987 में शुरू हुआ और आखिरी एपिसोड 31 जुलाई 1988 को देखने को मिला था। ये सीरियल रोज सुबह साढ़े 9 बजे टीवी पर आता था। सीरियल की पॉपुलैरिटी इतनी बढ़ गई कि जब भी ये टीवी पर आता तो हर जगह सन्नाटा छा जाता था। घरों के बाहर कर्फ्यू जैसे हालात हो जाते थे। खुद रामानंद सागर को विश्वास नहीं हुआ कि उनका बनाया सीरियल इतना ऐतिहासिक हो जाएगा। इस सीरियल में काम करने वाले एक्टर्स को भगवान की तरह माना जाने लगा।

[ad_2]

Source link

Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *