Arun Govil; Ramayana Bhagwan Ram Role | Ramanand Sagar Ramayana | श्रीराम का रोल करने के लिए मना किया गया था: अरुण गोविल बोले- अगर मैं भगवान का रोल नहीं करता तो शायद जी नहीं पाता

hindinewsviral.com
4 Min Read

[ad_1]

6 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

रामानंद सागर के सीरियल रामायण में अरुण गोविल को भगवान राम के रोल में देखा गया था। जहां एक तरफ इस रोल को करने के बाद उन्हें फैंस का अथाह प्रेम मिला था, वहीं इस कारण उनका करियर भी प्रभावित हुआ था। इस सीरियल को करने के बाद अरुण गोविल टाइम कास्ट हो गए थे।

कमर्शियल सिनेमा में उनका करियर खत्म सा हो गया था। इस कारण वो भी सोचने पर मजबूर हो गए थे कि क्या प्रभु राम का रोल करना एक गलती थी। यह सारी बातें खुद अरुण गोविल ने हालिया इंटरव्यू में कही हैं।

अरुण गोविल को प्रभु श्रीराम का रोल करने के लिए मना किया गया था

न्यूज 18 को दिए इंटरव्यू में अरुण गोविल ने बताया कि रामायण सीरियल करने के बाद उनका करियर प्रभावित हुआ था। उन्होंने कहा, ‘मैं रामायण करने से पहले कमर्शियल एक्टर था। मैं अच्छा काम कर रहा था, लेकिन रामायण में काम करने के बाद मैं वहां काम नहीं कर पाया। इस कारण मैं सोचने लगा कि यह एक गलती थी। बतौर एक्टर, अगर आप कमर्शियल सिनेमा में काम नहीं कर रहे हैं तो आप कुछ नहीं कर रहे हैं।

उस समय पौराणिक शो में काम करना कोई महान बात भी नहीं थी। मेरे दोस्तों और परिवार के लोगों ने कहा था- तुम रामायण क्यों कर रहे हो? इससे बहुत मुनाफा नहीं होगा। ऐसा काम करके तुम इसी में फंस जाओगे।

इसके जवाब में मैंने कहा था- ‘मुझे नहीं पता, लेकिन जब मैंने इसे करने के बारे में सोच लिया है, तो मुझे इसे करने दो।’

इसे करने के बाद एक एक्टर के रूप में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। मगर, बाद में मुझे यह समझ आया जब मुझे दर्शकों से बहुत प्यार मिला। अगर मैं एक कमर्शियल एक्टर होता तो मुझे इतना प्यार नहीं मिलता। अब, मुझे लगता है कि अगर मैंने यह भूमिका नहीं की होती, तो मैं अपना जीवन नहीं जी पाता।

लोगों और भगवान के बीच मैं सिर्फ माध्यम हूं- अरुण गोविल

अरुण गोविल ने फैंस से मिले प्यार के बारे में भी बात की। उन्होंने कहा, ‘जिस स्तर का मुझे प्यार और सम्मान मिला है, अगर किसी सामान्य व्यक्ति को इतनी प्रशंसा मिलती तो उसका सिर उसके कंधे पर नहीं होता। मैं अक्सर सोचता हूं कि लोग मुझमें क्या देखते हैं? भगवान मुझे यह सब दे रहे हैं और मैं खुद से कहता हूं कि वो जो कुछ भी देते हैं उसे ले लूं। उन्होंने मुझे बहुत आशीर्वाद दिया है। मगर, इसमें मेरा कोई श्रेय नहीं है, मैंने कुछ नहीं किया है, मैं सिर्फ एक माध्यम हूं।

87 एपिसोड का रामायण सीरियल पहली बार 1987 में प्रसारित हुआ था

टीवी शो रामायण को रामानंद सागर ने बनाया था। सीरियल में अरुण गोविल ने राम, दीपिका चिखलिया ने सीता, अरविंद त्रिवेदी ने रावण, सुनील लहरी ने लक्ष्मण और दारा सिंह ने हनुमान का किरदार निभाया था। रामायण दूरदर्शन पर पहली बार 25 जनवरी 1987 को प्रसारित हुआ था। इसका आखिरी एपिसोड 31 जुलाई 1988 को प्रसारित हुआ था। इस सीरियल में कुल 87 एपिसोड थे।

सीरियल की पॉपुलैरिटी इतनी बढ़ गई कि जब भी ये टीवी पर आता तो हर जगह सन्नाटा छा जाता था। घरों के बाहर कर्फ्यू जैसे हालात हो जाते थे। खुद रामानंद सागर को विश्वास नहीं हुआ था कि उनका बनाया सीरियल इतना ऐतिहासिक हो जाएगा।

[ad_2]

Source link

Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *