शिखर धवन की जिंदगी बदलने वाले 5 प्वाइंट, कभी अर्श तो कभी फर्श पर रहा करियर, पर्सनल लाइफ भी

hindinewsviral.com
4 Min Read

[ad_1]

नई दिल्ली. भारत के दिग्गज क्रिकेटर शिखर धवन के लिए आज 5 दिसंबर का दिन बेहद खास है. उनका जन्म आज के ही दिन साल 1985 को दिल्ली में हुआ था. क्रिकेट खेलने का शौक धवन को बचपन से ही थी. 12 साल की उम्र में ही उन्होंने क्रिकेट खेलना शुरू कर दिया था. धवन ने कोच तारक सिन्हा के अंडर में ट्रेनिंग ली थी. आइए जानते हैं धवन की क्रिकेट में एंट्री कैसे हुई.

धवन ने पहली बार 1999-2001 में विजय मर्चेंट ट्रॉफी में दिल्ली अंडर-16 के लिए खेला था. साल 2000-2001 में विजय मर्चेंट ट्रॉफी में वह सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी रहे थे. हालांकि उनकी टीम दिल्ली उपविजेता रही थी. उन्होंने 9 पारियों में 83.88 के औसत से दो शतक के साथ 755 रन बनाए थे. इसके बाद धवन को फरवरी 2001 में विजय हजारे ट्रॉफी के लिए नॉर्थ क्षेत्र की अंडर-16 टीम में चुना गया था. इसके बाद भी धवन ने तमाम क्रिकेट लीग्स में हिस्सा लिया. उन्होंने भारत के लिए अंडर 19 विश्व कप में भी खेला.

लगातार मेहनत करने के बाद धवन के लिए साल 2010 सबसे भाग्यशाली साल रहा था. क्योंकि सालों तक मेहनत करने के बाद उन्हें इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू करने का मौका मिला. शिखर ने अपना पहला मैच ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इसी साल खेला था. जो एक वनडे मैच था. लेकिन वह अपने पहले मैच में 0 पर आउट हो गए थे. इसके बाद 2012 में उन्होंने टी20 टीम में डेब्यू करने का मौका मिला. वहां भी वह फ्लॉप हुए पहले मैच में वह सिर्फ 5 रन ही बना सके थे. 2 साल तक धवन कभी टीम से बाहर तो कभी अंदर रहे.

IND vs SA: वर्ल्ड कप के बाद बड़ा बदलाव, साउथ अफ्रीका ने कप्तान को ही किया बाहर

धवन के करियर में सबसे अच्छा साल 2013 रहा. जब उन्होंने 26 वनडे मैचों में 1162 रन ठोक डाले. इसी साल धवन ने चैंपियंस ट्रॉफी में 5 मैच में 363 ठोके थे. भारत इस साल तीसरी बार आईसीसी इवेंट का चैंपियन बना था. इसके बाद धवन को टीम में लगातार मौके मिलते रहे. 2019 तक धवन लगातार भारतीय टीम का हिस्सा रहे. लेकिन 2020 के बाद से उन्हें काफी कम मौके मिलने लगे. 2020 और 2021 में वह 6 वनडे मैच खेल सके. साल 2022 में भी उन्होंने भारत के लिए कई मैच खेले. लेकिन युवा खिलाड़ियों के आने से धवन को काफी कम मौके मिलने लगे. धवन इस साल भारत के लिए एक भी मैच नहीं खेल सके हैं.

धवन की पर्सनल लाइफ
टीम इंडिया के स्टार बैटर शिखर धवन और उनकी पत्नी आयशा मुखर्जी के रास्ते अलग हुए अब काफी वक्त बीत चुका है. बता दें कि आयशा ऑस्ट्रेलियाई मूल की नागरिक हैं. धवन और आयशा ने एक दूसरे से डेट करने के बाद 2012 में शादी की थी. आयशा की यह दूसरी शादी थी. उनकी पहली शादी से दो बेटियां हैं. धवन से शादी के बाद 2014 में उनका बेटा हुआ, जिसका नाम जोरावर है. करीब 8 साल धवन और आयशा का रिश्‍ता अच्‍छा चला, लेकिन 2020 आते-आते दोनों के बीच अनबन हो गई. इसके बाद से धवन और आयशा अलग-अलग रहने लगे.

Tags: Ayesha Mukherjee, Shikhar dhawan, Team india

[ad_2]

Source link

Leave a review

Leave a review

Your email address will not be published. Required fields are marked *